RTO Rules and Regulations for Electric 2-Wheelers in India | भारत में इलेक्ट्रिक two-wheeler के लिये RTO Rules & Regulations

भारत की सड़कों पर इलेक्ट्रिक two-wheeler बढ़ रहे हैं। जब अधिक लोग इस नई टेक्नोलॉजी और इसके लाभों के बारे में जागरूक होते हैं, जैसे कि खर्च बचाना, आसान रखरखाव और कोई वायु प्रदूषण नहीं, तब यह संख्या और बढ़ जाएगी। भारत सरकार भी विभिन्न योजनाओं के माध्यम से इलेक्ट्रिक स्कूटर और ई-बाइक के वितरण को प्रोत्साहित कर रही है।

यदि आप इलेक्ट्रिक स्कूटर लेने की सोच रहे हैं तो भारत में इलेक्ट्रिक स्कूटर के आरटीओ नियम और विनियमों को जानना जरूरी है।

minimum age क्या होनी चाहिये

भारत में जो लोग 18 साल से अधिक उम्र के हैं, वे इलेक्ट्रिक टू व्हीलर कानूनी रूप से चला सकते हैं। सरकार ने देश में किसी भी टू व्हीलर के लिए न्यूनतम उम्र 18 वर्ष तय की है। केवल 16-18 वर्ष के उम्र के लोग गियरलेस होने के कारण जिन इलेक्ट्रिक टू व्हीलर वाहनों की अधिकतम स्पीड 25 किलोमीटर/घंटा और पावर 250W से कम होती है, वे ही इन वाहनों को चला सकते हैं।

ड्राइविंग लाइसेंस

सामान्य टू व्हीलर वाहन की तरह, ई-बाइक और इलेक्ट्रिक स्कूटर को भी ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है। बिना ड्राइविंग लाइसेंस के ई-बाइक या इलेक्ट्रिक स्कूटर चलाना गैरकानूनी होता है। यदि आप एक ऐसी दुर्घटना से गुजरते हैं जिसमें आपके पास एक valid ड्राइविंग लाइसेंस नहीं होता है, तो बीमा कंपनी आपको नुकसान के लिए मुआवजा नहीं देगी। केवल 25 किमी/घंटे और 250 वाट से कम पावर वाली इलेक्ट्रिक टू व्हीलर वाहन को ही ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता नहीं होती।

नंबर प्लेट की आवश्यकता

1 अप्रैल 2019 से शुरू होकर, केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के अनुसार, सभी register वाहनों के लिए एक हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट (HSRP) होना जरूरी बनाया गया है। यह इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए भी लागू है। निजी इलेक्ट्रिक वाहनों को सफेद अक्षरों वाली हरी बैकग्राउंड वाले नंबर प्लेट से असाइन किया जाता है। 250W से कम पॉवर और 25 km/h से कम maximum speed वाली इलेक्ट्रिक टू व्हीलर वाहनों को RTO registration और HSRP की आवश्यकता नहीं होती।

READ MORE Best Electric Scooter in India 2023 | 2023 में खरीदें ये 13 प्रीमियम इलेक्ट्रिक स्कूटर ब्रांड्स,देते है धासु रेंज

Best Electric Scooter in India 2022 | जाने भारतीय बाज़ार में सबसे ज्यादा बिकने वाले इलेक्ट्रिक स्कूटर

Electric two wheeler companies in India | ये हैं भारत की टॉप 15 इलेक्ट्रिक बाइक-स्कूटर बनाने वाली टू व्हीलर कंपनियां जो मचा रही है भारतीय बाज़ार में धूम

टॉप 3 इलेक्ट्रिक स्कूटर | Top 3 Electric Scooter In India

बीमा की आवश्यकता

ई-बाइक और इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए एक प्रोपर बीमा पॉलिसी जरूरी है। बीमा पॉलिसी एक दुर्घटना के कारण हुए किसी भी हानि के मामले में आपकी मदद करेगी। चोरी के मामले में, एक विस्तृत बीमा पॉलिसी गाड़ी के मालिक को नुकसान के लिए मुआवजा दे सकती है। हमेशा एक valid ड्राइविंग लाइसेंस रखना आवश्यक है ताकि बीमा का दावा कर सकें।

Helmet की आवश्यकता

इलेक्ट्रिक टू व्हीलर चलाते समय हेलमेट लगाना बेहद जरूरी है। अपनी सुरक्षा के लिए ई-बाइक या इलेक्ट्रिक स्कूटर चलाते समय हमेशा हेलमेट पहनना बेहद जरूरी है।

इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर रजिस्ट्रेशन और रोड टैक्स

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने एक अधिसूचना जारी की है जिसमें इलेक्ट्रिक वाहनों को registration शुल्क (नई और नवीनीकरण) और सड़क कर से मुक्त कर दिया गया है। इलेक्ट्रिक वाहनों को अपनाने व प्रोत्साहित करने के लिए कई राज्य सरकारों ने registration शुल्क को माफ कर दिया है। रोड टैक्स छूट के लिए आपके राज्य में लागू दिशानिर्देशों को जानना जरूरी है।

1. क्या भारत में इलेक्ट्रिक वाहन चलाने के लिए लाइसेंस आवश्यक है | Is a license required for driving an electric vehicle in India?

Ans. हां, भारत में इलेक्ट्रिक वाहन चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है। लाइसेंस वाहन के according के होना चाहिए, यानी इलेक्ट्रिक स्कूटर या मोटरसाइकिल के लिए टू व्हीलर लाइसेंस और इलेक्ट्रिक कार के लिए फोर व्हीलर लाइसेंस।

  1. भारत में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर के लिए maximum स्पीड limit क्या है?

Ans. भारत में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर की maximum स्पीड limit 25 किमी/घंटा है। इस limit से अधिक स्पीड वाले किसी भी वाहन को मोटर वाहन माना जाता है और इसके लिए registration और ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता होती है।

  1. क्या मुझे भारत में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर चलाने के लिए लाइसेंस की आवश्यकता है?

Ans. हां, आपको भारत में इलेक्ट्रिक टू व्हीलर चलाने के लिए valid ड्राइविंग लाइसेंस की आवश्यकता है।

Leave a comment